Konark Pratibha Rai

ISBN:

Published:

Hardcover

248 pages


Description

Konark  by  Pratibha Rai

Konark by Pratibha Rai
| Hardcover | PDF, EPUB, FB2, DjVu, audiobook, mp3, RTF | 248 pages | ISBN: | 3.59 Mb

उडिया भाषा की परतिभासमपनन लेखिका परतिभा राय के उडिया उपनयास शिलापदम को ओडीसा साहितय अकादमी पुरसकार-1986 परदान किया गया था। उसी उपनयास का हिनदी रूपानतर कोणारक के रूप में परसतुत है। यह कोई इतिहास नहीं है, यहां इतिहास-दृषटि भी परमुख नहीं है-साहितयMoreउड़िया भाषा की प्रतिभासम्पन्न लेखिका प्रतिभा राय के उड़िया उपन्यास शिलापदम को ओड़ीसा साहित्य अकादमी पुरस्कार-1986 प्रदान किया गया था। उसी उपन्यास का हिन्दी रूपान्तर कोणार्क के रूप में प्रस्तुत है। यह कोई इतिहास नहीं है, यहां इतिहास-दृष्टि भी प्रमुख नहीं है-साहित्य सृष्टि ही इसके प्राणों में है। इस कृति में केवल पत्थरों पर तराशी गई कलाकृत



Enter the sum





Related Archive Books



Related Books


Comments

Comments for "Konark":


zdradzony.com.pl

©2009-2015 | DMCA | Contact us